हरियाणा की इस बेटी ने गर्भवती होते हुए भी दी UPSC की परीक्षा, और बन गई कमिश्नर

Must Read

पुलकित कपूर
पुलकित कपूर
I am Pulkit Kapoor The best strategy maker for Herald Hindi

नई दिल्ली : कुछ करने का जुनून हो तो वाकई सफलता कदम चूमती है। आज भी ऐसे कई उदाहरण हमारे सामने हैं जिन्होंने अपनी कड़ी मेहनत से कई बार सफलता के मक़ाम को हासिल किया है। आज कई युवा सरकारी नौकरी के लिए परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं। ऐसे में इन परीक्षाओं में कई परीक्षार्थियों को असफलताओं का सामना करना पड़ता है तो कई परीक्षार्थी कई बार इन परीक्षाओं को पास कर लेते हैं।

आज ऐसी ही एक महिला अफसर की कहानी आज हम आपको बताने जा रहे हैं इनका नाम पूनम है। पूनम आज अनेकों लोगों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बन चुकी हैं। पूनम ने कई बार UPSC परीक्षा को पास किया है। इतना ही नहीं पूनम UPSC के साथ साथ कई अन्य सरकारी परीक्षाओं को भी पास कर चुकी हैं। फिलहाल वे एक आईआरएस अफसर के तौर पर काम कर रही हैं। आइए जानते हैं पूनम के बारे में।

हरियाणा की रहने वाली हैं पूनम

UPSC को पास कर अफसर बनने का सपना हर किसी युवा का होता है। इस परीक्षा को पास करने के लिए लोग दिन रात कड़ी मेहनत करते हैं। कोई कोचिंग लेता है तो कोई सेल्फ स्टडी के सहारे ही परीक्षा की तैयारी करता है। लेकिन परीक्षा में सफलता सिर्फ कुछ ही लोगों को मिल पाती है। आज कहानी एक ऐसी ही महिला अफसर की जिन्होंने यूपीएससी परीक्षा को भी कई बार पास किया।

इतना ही नहीं यूपीएससी के साथ साथ इस महिला अफसर ने कई अन्य सरकारी परीक्षाओं में भी सफलता को हासिल किया। आज हर कोई पूनम के जज़्बे की तारीफ कर रहा है। 2015 में जब पूनम ने यूपीएससी की परीक्षा को दिया था उस समय वे गर्भवती थी लेकिन इसके बाद भी उन्होंने अपनी पढ़ाई को जारी रखा। फिलहाल पूनम एक आईआरएस अफसर के तौर पर अपनी सेवाएँ दे रही हैं।

पूनम हरियाणा के झज्जर की रहने वाली हैं। पूनम का जन्म एक साधारण परिवार में ही हुआ था। लेकिन पढ़ाई लिखाई की ललक उनके मन में बचपन से ही थी। पूनम ने दिल्ली यूनिवर्सिटी से ही अपनी स्नातक की पढ़ाई की है। इसके बाद पूनम ने सरकारी नौकरी में जाने का मन बना लिया था। इसके बाद पूनम ने कई सरकारी परीक्षाओं को भी पास किया और सफलता को हासिल किया।

कई सरकारी परीक्षाओं में हासिल कर चुकी हैं सफलता

बहुत कम उम्र में ही पूनम ने सरकारी नौकरी को हासिल कर लिया था। बहुत कम उम्र में पूनम ने दिल्ली नगर निगम के एक प्राथमिक स्कूल में पढ़ाना शुरू कर दिया था। इसके बाद भी पूनम ने बैंक पीओ की परीक्षा भी दी थी जिसमें उन्हें सफलता मिली। वहीं इस दौरान ही पूनम ने एसएससी सीजीएल परीक्षा को भी दिया था। इस परीक्षा में पूनम ने ऑल इंडिया 7वीं रैंक हासिल की थी।

हालांकि इनमें से पूनम ने बैंक की नौकरी को ही चुना। हालांकि इस दौरान ही उन्हें यूपीएससी की तैयारी करने का विचार मन में आया और उन्होंने यूपीएससी की तैयारी को करना शुरू कर दिया। हालांकि ये सफर पूनम के लिए बेहद मुश्किल था। लेकिन पूनम ने पूरे सफर के दौरान हार नहीं मानी। बल्कि पूनम को हमेशा से ही ये भी पछतावा रहा था कि उन्हें कोई सही सलाह देने वाला नहीं था इसलिए उन्हें यूपीएससी को जानने में समय लगा।

ऐसा रहा पूनम का यूपीएससी का सफर

पूनम के लिए उनका यूपीएससी का सफरा बेहद मुश्किल था। जब पूनम ने इस परीक्षा को पास करने के फैसला किया तो उन्होंने कड़ी मेहनत करना शुरू कर दिया। 2007 में पूनम ने असीम दहिया से शादी भी रचा ली थी उनके पति ने भी उनका इस सफर में खूब साथ दिया। 28 वर्ष की उम्र में पूनम ने पहला प्रयास किया था। उस वक़्त यूपीएससी की आयु सीमा 30 वर्ष ही हुआ करती थी। पूनम ने पहले ही प्रयास में यूपीएससी को पास कर लिया था।

लेकिन उनकी रैंक खास नहीं थी इसलिए उन्हें आरपीएफ़ सर्विस दी गई। ऐसे में पूनम अपना रैंक सुधारना चाहती थी। इसलिए उन्होंने दूसरा प्रयास किया। इस बारा भी पूनम ने परीक्षा को पास तो कर लिया था लेकिन उनकी रैंक अच्छी नहीं थी। इसलिए उन्हें आईपीआरएस सर्विस दी गई। लेकिन पूनम हार मानने वालों में से नहीं थी। ऐसे में उन्होंने 2011 में फिर से परीक्षा को दिया जिसमें वे प्री परीक्षा भी पास नहीं कर पाई।

इसके बाद ही पूनम का यूपीएससी का सफर भी खत्म हो गया था। हालांकि इससे पहले वे हरियाणा सिविल सेवा को पास कर डीएएसपी के तौर पर भर्ती हो गई थी। लेकिन किस्मत पूनम के साथ थी। 2011 में यूपीएससी के पैटर्न में बदलाव हुआ था जिसके कारण फेल हुए छात्रों को एक और मौका दिया गया। इसके बाद 2015 में पूनम ने अपना एक और प्रयास किया। इस दौरान वे गर्भवती भी थी। लेकिन पूनम ने हार नहीं मानी और इस बार उनका चयन आईआरएस के तौर पर हो गया।

अन्य कैंडीडेट्स को पूनम की सलाह

बता दें कि पूनम का मानना है कि इस परीक्षा को पास करने के लिए नियमित रूप से पढ़ाई करना जरूरी है। उनके मुताबिक उन्होंने भी सिर्फ 6 घंटे की पढ़ाई से इस परीक्षा को पास किया है। पूनम ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि जो सोचते हैं कि यूपीएससी के लिए 18 घंटे पढ़ना जरूरी है तो ये गलत है क्यूंकि उनके मुताबिक इस परीक्षा के लिए नियमित पढ़ना जरूरी है। वहीं वे लिमिटेड रिसोर्स के साथ तैयारी करने की भी सलाह देती हैं।

- Advertisement -spot_img

Latest News

पहले ही दिन विक्रम वेधा का हुआ बुरा हाल, लेकिन पोन्नियन सेलवन ने कर दिखाया कमाल

देश में त्यौहारों का सीजन चल रहा है। ऐसे में देशवासियों को सिनेमा से भी लगातार कई बड़े तोहफे...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े