हरियाणा में सबडिवीजन पॉलिसी हुई लागू, लाखों लोगों को मिलेगा फायदा

Must Read

डी पांडेय
डी पांडेयhttp://Heraldhindi.com
I keep my eyes wide open and observe everything minute. I strive for development and I live for Content Writting.

फरीदाबाद:हरियाणा प्रदेश में सबडिवीजन की नई नीति लागू होने से लाखों लोगों को लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश भर के लाखों लोगों को इस नीति से लाभ पहुंचाने का काम किया है। हरियाणा भाजपा व्यापार प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष जगदीश भाटिया ने सीएम मनोहर लाल एवं फरीदाबाद के सांसद तथा केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर का आभार जताया है। उन्होंने कहा कि राज्य मंत्री मंडल की बैठक में सबडिवीजन की इस पॉलिसी को लागू करवाकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ना केवल समूचे प्रदेश बल्कि फरीदाबाद के लाखों लोगों को सीधा लाभ पहुंचाया है। इस नीति के बाद अब लोगों को अवैध भवन बनवाने की जरूरत महसूस नहीं होगी। लोग अपने 200 गज तक के प्लाट का सबडिवीजन करवाकर उसका नक्शा पास करवा सकेंगे तथा उस पर वैद्य तरीके से अपना निर्माण करवाएंगे। सबडिवीजन की इस पॉलिसी के लिए मात्र 10 रुपए प्रति वर्ग मीटर की फीस लागू की गई है, जोकि बेहद कम और आम आदमी को लाभ पहुंचाने के लिए निर्धारित की गई है।
भाजपा नेता श्री भाटिया ने कहा कि इस नीति का सबसे अधिक लाभ फरीदाबाद को मिलेगा, जहां सबडिवीजन की योजना ना होने की वजह से लोगों को मजबूरन अपने भवन अवैध रूप से बनाने पड़ते थे। इसके लिए कई बार भाजपा सांसद एवं राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर के माध्यम से सीएम तक यह मांग पहुंचाई गई थी। इस मांग को सरकार ने सुना और उस पर अमल करके लाखों लोगों को लाभ पहुंचाने का काम किया है। श्री भाटिया ने कहा कि भाजपा सरकार का सदैव यह प्रयास रहता है कि अधिक से अधिक लोगों तक कैसे लाभ पहुंचाया जाए। इस नीति से मुख्यमंत्री ने एक बार फिर से यह साबित कर दिया है कि भाजपा सरकार का उददेय लोगों के लिए जनहित की नीतियां बनाना है। इसके लिए वह मुख्यमंत्री मनोहर लाल एवं सांसद कृष्णपाल गुर्जर का आभार जताते हैं।

- Advertisement -spot_img

Latest News

हरियाणा में ट्रैफिक नियम हुए सख्त, नियम तोड़ने पर हमेशा के लिए रद्द होगा लाइसेंस और परमिट

Delhi: हरियाणा में यातायात नियमों का सख्ती से पालन कराने पर ज़ोर दिया जा रहा है। इसके लिए हरियाणा...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े