हरियाणा में 900 एकड़ जमीन पर बड़ा उद्योग लगाएगी मारुति, काफी संख्या में मिलेगा रोजगार

Must Read

डी पांडेय
डी पांडेयhttp://Heraldhindi.com
I keep my eyes wide open and observe everything minute. I strive for development and I live for Content Writting.

नई दिल्ली: हम जानते हैं कि भारत में ई वाहनों को बढ़ावा देने के लिए कई अहम कदम उठाए जा रहे हैं। वहीं कई विदेशी कंपनियां भी भारत में ई वाहनों को बढ़ावा देने के लिए भारत की मदद कर रही हैं। अब हाल ही में जापानी कंपनी सुज़ुकी मोटर कॉर्पोरेशन ने भी भारत में ई वाहनों को बढ़ावा देने के लिए करोड़ों के निवेश का एलान कर दिया है। जिसके बाद अब जल्द ही भारत में ही ई वाहनों को बड़े स्तर पर तैयार किया जा सकेगा। हाल ही में एक बैठक में ही इस करार पर मुहर लगाई गई है। बताया जा रहा है कि ये कंपनी भारत में ई वाहनों और बैटरी के लोकल उत्पादन के लिए 10 हज़ार 445 करोड़ का निवेश करने वाली है। ऐसे में भारत में बड़े स्तर पर ई वाहनों और बैटरी का उत्पादन किया जाएगा। ये करार जापान के प्रधानमंत्री और भारत के प्रधानमंत्री की उपस्थिती में ही किया गया है।

पीएम मोदी के मौजूदगी में तय हुई डील

नई दिल्ली में 19 मार्च 2022 को भारत जापान आर्थिक मंच की बैठक हुई जिसमें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ साथ जापान के प्रधानमंत्री फुमियो किशिदा भी मौजूद थे। दोनों की मौजूदगी में ही जापान की कंपनी सुज़ुकी मोटर कॉर्पोरेशन ने भारत में ईवी और बैटरी की लोकल मैन्यूफैक्चरिंग बढ़ाने के लिए 10,445 करोड़ का निवेश करने की बात कही है। ये समझौता गुजरात राज्य के साथ किया गया है। वहीं इसमें निवेश का भी पूरा उल्लेख किया गया है।जानकारी के मुताबिक 2025 में एसएमसी द्वारा 3100 करोड़ का निवेश गुजरात में ईवी के उत्पादन को बढ़ाने के लिए किया जाएगा। वहीं 2026 में 7300 करोड़ का निवेश ई वाहनों की बैटरी बनाने के प्लांट को स्थापित करने के लिए किया जाने वाला है। दोनों देशों के प्रधानमंत्री के साथ साथ कई बड़े अधिकारी भी मौजूद थे। ऐसे में जल्द ही भारत में भी बड़े स्तर पर ई वाहनों और उनकी बैटरी का उत्पादन कार्य किया जा सकेगा।

अब सस्ती हो जाएंगी ई वाहनों की कीमतें

हम जानते हैं कि इस समय देश में पेट्रोल और डीजल के दाम रोजाना बढ़ते ही जा रहे हैं। ऐसे में लोग ई वाहनों की तरफ ही ज्यादा आकर्षित हो रहे हैं। हालांकि इलेक्ट्रिक गाड़ियों के दाम फिलहाल काफी ज्यादा हैं इसलिए हर कोई इन्हें खरीद भी नहीं पा रहा है। लेकिन माना जा रहा है कि भारत में ही उत्पादन कार्य शुरु होने के बाद ई वाहनों की कीमत में भी कमी आएगी। वहीं खास बात ये भी है कि इस निवेश के बाद भारत को आत्मनिर्भर बनने में भी काफी मदद मिलेगी।

हरियाणा में लगा रही है नया प्लांट

बता दें कि मारूति सुजुकी हरियाणा में भी अपना एक बड़ा प्लांट लगाने जा रही है, जिसके लिए सरकार ने कंपनी को 900 एकड़ जमीन दी है। इसमें से 800 एकड़ में मारूति की कारें और 100 एकड़ में सुजुकी की बाईक बनेंगी। इसके लिए कंपनी को सोनीपत के खरखौदा में यह जमीन दी गई है। इससे प्रदेश के विकास को पंख लगेंगे और युवाओं को रोजगार भी मिलेगा। मारूति अपने गुरूग्राम प्लांट को सोनीपत में शिफ्ट करने की योजना बना रही है। इसी कड़ी में सुजुकी ने अब हरियाणा के अलावा गुजरात का भी रूख कर लिया है, जहां 3100 करोड़ के निवेश से इलेक्ट्रिक वाहनों का उत्पादन शुरू करेगी। इस प्लांट से वर्ष 2025 तक उत्पादन शुरू होने की उम्मीद है, इसी कड़ी में मारूति वर्ष 2026 में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए बैटरी बनाने का प्लांट भी स्थापित करेगी। इस प्लांट में करीब 7300 करोड़ रुपए का निवेश करने जा रही है।

- Advertisement -spot_img

Latest News

पहले ही दिन विक्रम वेधा का हुआ बुरा हाल, लेकिन पोन्नियन सेलवन ने कर दिखाया कमाल

देश में त्यौहारों का सीजन चल रहा है। ऐसे में देशवासियों को सिनेमा से भी लगातार कई बड़े तोहफे...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े