हरियाणा को 1050 मेगावाट बिजली देने को तैयार हुआ अडानी ग्रुप , अब मिलेगा बिजली कट से छुटकारा

Must Read

डी पांडेय
डी पांडेयhttp://Heraldhindi.com
I keep my eyes wide open and observe everything minute. I strive for development and I live for Content Writting.

चंडीगढ़ : हम जानते हैं कि पिछले कुछ हफ्तों से हरियाणा में बिजली बड़ी समय बनी हुई थी। पूरे हरियाणा में लोग बिजली कटों से परेशान थे। वहीं हरियाणा को भी जरूरत के अनुश्र बिजली नहीं मिल पा रही थी जिसके कारण बिजली कट करना भी जरूरी हो गया था। हालांकि अब ये स्थिति सुधरती हुई नज़र आ रही है। पिछले कुछ समय से शहरों में बिजली कट नहीं हो रहे हैं।

हालांकि औद्योगिक क्षेत्रों गुरुग्राम और फ़रीदाबाद में कई जगह पर कट की स्थिति बनी हुई है। लेकिन धीरे धीरे सरकार अब इसे भी दूर करने पर काम कर रही है। दरअसल अब अडानी ग्रुप भी हरियाणा को बिजली देने के लिए तैयार हो चुका है। वहीं अब हरियाणा का बंद प्लांट भी खुलने वाला है जिससे हरियाणा को बिजली की आपूर्ति मिल पाएगी। आइए जानते हैं इस खबर को विस्तार से।

हरियाणा के औद्योगिक क्षेत्रों में नहीं होगी

बिजली की परेशानी बता दें कि हाल ही खबर सामने आई है कि गुरुग्राम और फ़रीदाबाद जैसे हरियाणा के औद्योगिक क्षेत्रों में अब बिजली आपूर्ति को पूरी तरह से बहाल कर दिया गया है। पिछले कुछ समय से बिजली के कट यहाँ लग रहे थे लेकिन अब बिजली के कटों से यहाँ छुटकारा मिल गया है। जानकारी के अनुसार अब अडानी ग्रुप भी हरियाणा को 2.94 प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली देने के लिए तैयार हो चुका है। ऐसे में हरियाणा को बिजली आपूर्ति हो पाएगी।

वहीं झाड़ली में 600 मेगावाट वाला प्लांट भी अब जल्द ही शुरू होने वाला है। माना जा रहा है कि अब हरियाणा को जरूरत से भी ज्यादा बिजली मिल सकेगी। वहीं दादरी थर्मल हरियाणा को मिलने वाली बिजली पर भी दिल्ली द्वारा स्टे लगवा दिया गया था जो अब 11 मई को हटने वाला है। वहीं इन सबके बाद हरियाणा को 3000 मेगवाट की बिजली भी बढ़ जाएगी। अडानी ग्रुप से बिजली मिलने की बात के बारे में भी बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने ही बताया है।

छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश से भी खरीदी जा सकती है बिजली

बता दें कि सरकार छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश से भी बिजली खरीदने का प्रयास कर रही है। वहीं बिजली मंत्री ने बताया है कि कोयले का स्टॉक भी काफी मात्रा मई मौजूद है। कोयले की कमी न हो इसके लिए सरकार 9.50 लाख टन विदेशी कोयला भी खरीदने वाली है जिसके लिए टेंडर को भी आमंत्रित किया गया है।

बताया जा रहा है कि देश में इस समय करीब 8 रैक कोयले की जरूरत है जबकि केंद्र द्वारा सिर्फ 6 रैक कोयला ही भेजा जा रहा है हालांकि इसके लिए अब केंद्र सरकार को भी पत्र लिखा जा चुका है।

- Advertisement -spot_img

Latest News

हरियाणा में ट्रैफिक नियम हुए सख्त, नियम तोड़ने पर हमेशा के लिए रद्द होगा लाइसेंस और परमिट

Delhi: हरियाणा में यातायात नियमों का सख्ती से पालन कराने पर ज़ोर दिया जा रहा है। इसके लिए हरियाणा...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े