अभिनेता सोनू सूद ने शुरू की नई मुहिम, यूक्रेन में फंसे भारतीयों को सुरक्षित लाने की अपील

Must Read

पुलकित कपूर
पुलकित कपूर
I am Pulkit Kapoor The best strategy maker for Herald Hindi

मुंबई : सोनू सूद ने यूक्रेन में भारतीय दूतावास से भारतीयों को निकालने और उन्हें देश वापस लाने के लिए केंद्र सरकार से एक वैकल्पिक मार्ग खोजने का अनुरोध किया है । अभिनेता सोनू सूद ने भारत सरकार से यह सुनिश्चित करने का आग्रह किया है कि रूस के साथ जारी संकट के बीच यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाया जाए। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा यूक्रेन पर आक्रमण का आदेश देने के कुछ घंटों बाद अभिनेता ने अपने ट्विटर अकाउंट पर केंद्र सरकार से भारतीयों को सुरक्षित अपने देश लाने की अपील की । अभिनेता ने कहा कि वह यूक्रेन में फंसे भारतीयों की सुरक्षा के लिए ‘प्रार्थना’ कर रहे हैं। उन्होंने अपने पोस्ट में हैशटैग, #IndiansInUkraine” भी लिखा है।

यूक्रेन में फंसे है हजारों लोग

सोनू ने यूक्रेन में भारतीय दूतावास से नागरिकों को भारत वापस लाने के लिए एक ‘वैकल्पिक मार्ग’ खोजने का अनुरोध किया। उन्होंने लिखा, “18000 भारतीय छात्र और कई परिवार यूक्रेन में फंसे हुए हैं, मुझे यकीन है कि सरकार उन्हें वापस लाने की पूरी कोशिश कर रही होगी। मैं भारतीय दूतावास से उनकी निकासी के लिए एक वैकल्पिक मार्ग खोजने का आग्रह करता हूं। व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि मास्को यूक्रेन पर कब्जा करने की योजना नहीं बना रहा है, लेकिन यूरोपीय देश के “विसैन्यीकरण” के मकसद से वहां एक सैन्य कार्रवाई शुरू की है । पुतिन ने यह घोषणा एक आश्चर्यजनक टेलीविजन संबोधन में की। ऋचा चड्ढा और तिलोत्तमा शोम सहित कई भारतीय हस्तियों ने सोशल मीडिया पर स्थिति पर प्रतिक्रिया दी है।


युद्ध से बदसूरत कुछ भी नहीं

ऋचा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, “सैनिकों का हर विलय/वापसी जो किसी देश को अंधेरे युग/नए डेटा गोपनीयता नियमों में वापस धकेलती है, अब जो कुछ भी होगा वह ‘आगे के लोकतंत्र’ और ‘राष्ट्रीय हित’ में होगा।” तिलोत्तमा ने संकट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि “युद्ध से बदसूरत कुछ भी नहीं है।” उन्होंने लिखा, “मैं अपनी मां के लिए लगातार चिंता करती हूं, जो कैंसर से जूझ रही है. लेकिन जब मैं युद्ध के बीच में परिवारों और कैंसर रोगियों के बारे में सोचती हूं, तो मेरा दिमाग समझ से बाहर हो जाता है. युद्ध से बदसूरत कुछ भी नहीं है. माताएं युद्ध के लिए जीवन नहीं देतीं।”

भारतीय दूतावास ने जारी की एडवाइजरी

यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने भारतीय नागरिकों और छात्रों के लिए एक सलाह जारी की है कि वे अपने दस्तावेज़ हर समय अपने साथ रखें और ‘अपने आसपास के हालातों से अवगत रहे और जब तक आवश्यक न हो अपने घरों से बाहर न निकलें। इस बीच, एयर इंडिया सहित कई एयरलाइनों ने भारतीय नागरिकों को सुरक्षित निकालने के लिए विशेष उड़ानें शुरू की हैं। एएनआई के अनुसार, 182 भारतीय नागरिक, जिनमें अधिकांश छात्र थे, गुरुवार सुबह यूक्रेन इंटरनेशनल एयरलाइंस के माध्यम से दिल्ली पहुंचे। हंगरी में भारतीय दूतावास की एक टीम को भी भारतीय नागरिकों को निकालने की सुविधा के लिए यूक्रेन में सीमा चौकी जोहानयी के लिए रवाना किया गया है। दूतावास ने ट्वीट किया कि वे हर संभव सहायता प्रदान करने के लिए हंगरी सरकार के साथ काम कर रहे हैं, जबकि भारत सरकार “स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रही है” और निकासी योजनाओं पर काम कर रही है।

- Advertisement -spot_img

Latest News

दृश्यम2 के बाद इन फिल्मों के सीक्वेल का हो रहा है इंतज़ार, दर्शक भी हैं बेहद उत्साहित

अजय देवगन स्टारर फिल्म दृश्यम 2 को लेकर दर्शक काफी खुश नज़र आ रहे हैं। इस फिल्म के सीक्वेल...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े