कश्मीर फाइल्स को ऑस्कर से बाहर करने के लिए RRR को बनाया जा रहा है हथियार, विदेशी ताकत भी हैं इस कैम्पेन का हिस्सा

Must Read

हिमेश ठाकुर
हिमेश ठाकुर
My Profession is a god for me. I Love to Write entertainment news.

इस समय भारत में दो फिल्मों के ऑस्कर में जाने को लेकर घमासान मचा हुआ है। एक है कश्मीर फाइल्स और एक है आरआरआर दोनों ही फिल्मों को लेकर खूब चर्चा हो रही है। आरआरआर के पक्ष में तो पेटीशन भी लगाई जा रही हैं लेकिन इन पेटीशन को लगाने का कोर्ट ही अलग है। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर इन फिल्मों को लेकर घमासान चल रहा है।

कई प्लेटफॉर्म द्वारा कहा जा रहा है कि इस बार आरआरआर को ही ऑस्कर मिलना चाहिए। इसके लिए इन प्लेटफॉर्म द्वारा तगड़ा कैम्पेन भी चलाया जा रहा है। हालांकि अभी ये तो सवाल है कि ये कैम्पेन इन ऑनलाइन प्लेटफॉर्म द्वारा ही चल रहा है या किसी के दबाव में आकर ये कैम्पेन चलाया जा रहा है।

दरअसल कई रिपोर्ट्स इस बात का दावा कर रही हैं कि आरआरआर को ऑस्कर में भेजने और जिताने के कैम्पेन का आरआरआर से कोई मतलब ही नहीं है। इस कैम्पेन के लोगों को आरआरआर के हिट फ्लॉप, ऑस्कर जीतने न जीतने से कोई फर्क नहीं पड़ता दरअसल ये कैम्पेन सिर्फ कश्मीर फाइल्स को ऑस्कर में जाने से रोकने के लिए ही किया जा रहा है। कश्मीर फाइल्स ने इस बार झंडे गाड़ दिए थे जिसके बाद से ही उसके ऑस्कर में जाने की चर्चा थी।

लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जो इस फिल्म को ऑस्कर में जाने से रोक्न चाहते हैं और उसके लिए आरआरआर को हथियार बनाया जा रहा है। आरआरआर में भी महान लोगों की कहानी को दिखाया गया है जिससे इस फिल्म को कश्मीर फाइल्स के आगे रखा जा रहा है। लेकिन अब बात वही है कि यदि आरआरआर को ऑस्कर में नहीं भेजा जाता है तो भारत में भी हिंदी-दक्षिण की लड़ाई का मसला शुरू हो जाएगा।

वहीं कहा तो ये भी जा रहा है कि अपने फायदे के लिए अंतर्राष्ट्रीय शक्तियाँ भी तेजी से काम कर रही हैं और मीडिया भी इसमे लगा हुआ है। कई प्रतिष्ठित मैगजीन भी पहले ही ऑस्कर में आरआरआर के नाम आने कि संभावना बता चुकी हैं। वहीं विदेशों में आरआरआर कि खूब तारीफ भी हो रही है। लेकिन ये सब कश्मीर फाइल्स को ऑस्कर में रोकने के लिए ही किया जा रहा है। हालांकि इन बातों में कितनी सच्चाई है ये कोई नहीं जानता।

- Advertisement -spot_img

Latest News

पहले ही दिन विक्रम वेधा का हुआ बुरा हाल, लेकिन पोन्नियन सेलवन ने कर दिखाया कमाल

देश में त्यौहारों का सीजन चल रहा है। ऐसे में देशवासियों को सिनेमा से भी लगातार कई बड़े तोहफे...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े