हरियाणा के डिप्टी सीएम ने 5 नौजवानों को मुफ्त में करवाई हेलीकॉप्टर की सैर, जानें क्या है पूरा मामला

Must Read

हिमेश ठाकुर
हिमेश ठाकुर
My Profession is a god for me. I Love to Write entertainment news.

चंडीगढ़। हरियाणा के पांच युवाओं की हैरानी का ठिकाना नहीं रहा, जब उन्हें अचानक से हैलीकॉप्टर की सवारी करने का ऑफर मिला और वह भी बिल्कुल मुफ्त में। प्रदेश सरकार के हैलीकॉप्टर में अचानक से फ्री सवारी करने का प्रस्ताव मिलते ही ये पांचों युवक आश्चर्यचकित रह गए। उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि इस तरह से उनका हवा में उडऩे का सपना सच हो जाएगा। मगर यह अवसर मिलते ही पांचों युवक बिना एक भी पल गंवाएँ  हैलीकॉप्टर में सवार हो गए और चल दिए आकाश की सैर करने।

ऐसे सच हुआ सपना

आखिर अचानक से ऐसा क्या हुआ और कैसे इन युवाओं को यह मौका मिला, आइए जानते हैं इस पूरी खबर को विस्तार से। दरअसल हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला अपने सरकारी हैलीकॉप्टर से सवार होकर चौटाला गांव पहुंचे थे। हैलीकॉप्टर द्वारा जैसे ही श्री चौटाला अपने गांव पहुंचे तो लोगों ने उनका जोरदार स्वागत किया। पंरतु इस बीच हैलीेकॉप्टर को वापिस चंडीगढ़ की तरफ जाना था। कैप्टन का काम हैलीकॉप्टर से दुष्यंत चौटाला को चौटाला गांव छोडक़र वापिस चंडीगढ़ खाली जाना था।हैलीकॉप्टर में कोई सवारी नहीं थी और उसे खाली ही जाना था।

दुष्यंत ने दिया प्रस्ताव

यह देखकर अचानक से डिप्टी सीएम को ना जानें क्या सूझी कि उन्होंने गांव के कुछ युवाओं को अपने पास बुलाया। उनसे पूछा कि क्या कभी उन्होंने हैलीकॉप्टर की सवारी की है, जब इन युवाओं ने ना में सिर हिलाया तो उन्होंने एक और सवाल पूछ लिया। श्री चौटाला ने पूछा कि क्या उनमें से कोई भी पांच युवा हैलीकॉप्टर में घूमना चाहोगे। इस पर पांच लोगों ने सहमति भर दी। यह सुनते ही श्री चौटाला ने कैप्टन को निर्देश दिया कि वह इन पांचों को आकाश की सैर करवाने के लिए अपने साथ ले जाएं।

ये है इन युवाओं के नाम

इन पांचों युवाओं के नाम सुनील फोगडिया, विक्रम, संजय स्वामी, सुशील स्वामी , दिनेश पोटलिया और विकास लोहचब बताए गए हैं। हैलीकॉप्टर में सवार होने से पहले इन सभी ने बताया कि वह केवल सपने में ही आकाश की सैर करने की सोच सकते थे। दुष्यंत चौटाला की वजह से आज उनका यह सपना पूरा हो रहा है। इससे पहले ताऊ देवीलाल भी अपने लोगों को हैलीकॉप्टर में बिठाकर आकाश की सैर करवाया करते थे। उनकी तर्ज पर ही दुष्यंत चौटाला ने भी अपने लोगों का सपना सच करने का काम किया है। वह हमेशा उनके आभारी रहेंगे कि उन्होंने उन जैसे आम लोगों को हवाई जहाज की सैर करने का अवसर दिया है। यह कहते ही पांचों युवक देखते ही देखते हवा में उडऩे लगे।

- Advertisement -spot_img

Latest News

बच्चों के लिए वरदान है बिना कैश काउंटर वाला अस्पताल, मुफ्त होता है बच्चों के दिल का इलाज

Delhi: हम जानते हैं कि आज भी ऐसे कई बच्चे हैं जो दिल की बीमारी के साथ ही पैदा...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े