बॉलीवुड में नेपोटिज़्म पर छिड़ी बहस, कार्तिक आर्यन को बनाया जा रहा है मोहरा, कार्तिक ने भी दिया बड़ा बयान

Must Read

हिमेश ठाकुर
हिमेश ठाकुर
My Profession is a god for me. I Love to Write entertainment news.

कुछ समय से ही बॉलीवुड में नेपोटिज़्म के होने की बात कही जा रही है। इसमें कोई दो राय नहीं हैं कि बॉलीवुड में नेपोटिज़्म है। लेकिन कुछ समय से नेपोटिज़्म का ढिकरा कार्तिक आर्यन के सिर पर ही फोड़ा जा रहा है। ऐसा लग रहा है जैसे सुशांत के बाद कार्तिक को नेपोटिज़्म का मोहरा बनाया जा रहा है। कार्तिक आर्यन इस समय अपनी फिल्म भूल भुलैया 2 को लेकर काफी सुर्खियों में हैं।

हर कोई उनकी इस फिल्म का इंतज़ार भी कर रहा है। फिल्म के ट्रेलर भी रिलीज़ हो गया है जिसे दर्शक भी काफी पसंद कर रहे हैं। वहीं अब कार्तिक को लेकर एक बार फिर से नेपोटिज़्म को लेकर बहस छिड़ गई है। इसमें करण जौहर का नाम सबसे पहले आ रहा है। कार्तिक के लिए सोशल मीडिया पर भी अलग ही ट्रेंड शुरु हो गया है।

हम जानते हैं कि बीते दिनों कार्तिक और करण के बीच काफी बड़ा विवाद होने की खबरें सामने आई थी। बताया जा रहा था कि करण ने कार्तिक को दोस्ताना 2 के लिए अचानक से मना कर दिया और धर्मा प्रॉडक्शन में भी उन्हें जिंदगी भर के लिए बैन कर दिया। कहा तो ये भी गया कि करण ने कार्तिक को काम न मिले इसके लिए अपनी पहचान का भी इस्तेमाल किया है। हालांकि इस बात में कितनी सच्चाई है ये कोई नहीं जानता।

लेकिन ये बात किसी से छिपी नहीं है कि बॉलीवुड में अब भी भाई भतीजावाद है। कंगना रनौत भी इस पर काफी बयान बाज़ी कर चुकी हैं। वहीं अब हाल ही में कार्तिक ने भी इस पर बातचीत करते हुए मीडिया को कई बड़े बयान दिए हैं। जब कार्तिक से नेपोटिज़्म को लेकर कई सवाल किए गए तो कार्तिक ने सावधानी से सवालों के जवाब देते हुए कहा कि वे सिर्फ अपने काम पर ही ध्यान देते हैं और उन्होंने दर्शकों से उनकी फिल्म देखने के लिए कहा।

वहीं कार्तिक को अपने बयान के फायदे और नुकसान के बारे में भी अच्छे से पता है इसलिए उन्होंने काफी संभलकर सब बातों का जवाब दिया है। हालांकि मना जा रहा है कि यदि करण उन्हें फिल्म का ऑफर देंगे तो वे जरूर करेंगे। मना जा रहा है कि कार्तिक को यदि ऐसे ही सफलता मिलती रही तो वो दिन दूर नहीं जब निर्माता उनके पीछे खाली चैक लेकर भागने वाले है।

- Advertisement -spot_img

Latest News

बच्चों के लिए वरदान है बिना कैश काउंटर वाला अस्पताल, मुफ्त होता है बच्चों के दिल का इलाज

Delhi: हम जानते हैं कि आज भी ऐसे कई बच्चे हैं जो दिल की बीमारी के साथ ही पैदा...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े