हरियाणा के इस सरकारी स्कूल में होती है हाईटेक पढ़ाई, देख कर शरमा जाएंगे प्राइवेट स्कूल

Must Read

पुलकित कपूर
पुलकित कपूर
I am Pulkit Kapoor The best strategy maker for Herald Hindi

Delhi: आमतौर पर सरकारी स्कूलों का नाम आते ही लोग इसे हीन भावना की नज़र से देखने लगते हैं क्यूंकि आज भी ज़्यादातर सरकारी स्कूलों में बच्चों को पढ़ाई के अच्छे साधन उपलब्ध नहीं हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे स्कूल के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे। ये स्कूल हरियाणा के कैथल के गाँव में बना हुआ है जो सरकारी स्कूल होते हुए भी प्राइवेट स्कूलों को मात दे रहा है।

आज इस स्कूल में हर वो सुविधा मौजूद है जो एक बच्चे के बेहतर भविष्य के ले आवश्यक होती है। आज कई बच्चे भी इस स्कूल में पढ़ने के लिए आते हैं। वहीं खास बात तो ये है कि इस सरकारी स्कूल का रिजल्ट भी हर बार काफी अच्छा आता है और बच्चों को प्रैक्टिकल ज्ञान भी दिया जाता है। अब ये सरकारी स्कूल सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रहा है।

 

डिजिटल बोर्ड और सीसीटीवी जैसी सब सुविधा है मौजूद

दरअसल आज हम आपको हरियाणा के कैथल के सौंगरी गाँव के एक सरकारी स्कूल के बारे में बताने जा रहे हैं जो आज कई अन्य सरकारी स्कूलों के लिए मिसाल बन चुका है। आज इस स्कूल की हर तरफ चर्चा भी हो रही है। बता दें किइस स्कूल में बच्चों को वो तमाम सुविधाएं दी गई हैं जो महंगे प्राइवेट स्कूलों में दी जाती हैं। वहीं पहली बार इस स्कूल को देखने पर ये विश्वास करना भी मुश्किल हो जाता है कि ये सरकारी स्कूल है।

इस स्कूल में डिजिटल बोर्ड के साथ ही पढ़ाई कराई जाती है। वहीं इस स्कूल में बच्चों की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं। यहाँ का गार्डन भी काफी अच्छा है जहां बच्चे रोजाना खेलते भी हैं। खास बात तो ये है किइस स्कूल में बच्चों को किताबों के साथ साथ प्रैक्टिकल ज्ञान भी दिया जाता है जो उनके भविष्य के लिए बेहद जरूरी है। वहीं स्कूल में वीडियो लेक्चर पर आयोजित किए जाते हैं।

सरकारी स्कूलो की तरह ही कम फीस में होती है पढ़ाई

स्कूल के प्रिंसिपल ने बताया है कि पहले इस स्कूल की हालत काफी खरब थी लेकिन स्कूल के स्टाफ और पंचायत की मदद से इस स्कूल का रूप बदला गया है। आपको जानकर हैरानी होगी कि आज भी यहाँ बच्चों का रिजल्ट 90% से ऊपर ही जाता है। स्कूल में आधुनिक लाइब्रेरी भी है और लड़कियों के बाथरूम में सैनेटरी पैड को नष्ट करने वाली मशीन भी लगाई गई है। आज यहाँ स्टाफ के भी बच्चे पढ़ाई करने के लिए आते हैं और यहाँ आज भी सरकारी स्कूलों जितनी फीस पर ही बच्चों को पढ़ाई कराई जाती है।

- Advertisement -spot_img

Latest News

बच्चों के लिए वरदान है बिना कैश काउंटर वाला अस्पताल, मुफ्त होता है बच्चों के दिल का इलाज

Delhi: हम जानते हैं कि आज भी ऐसे कई बच्चे हैं जो दिल की बीमारी के साथ ही पैदा...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े