बॉलीवुड के असली जय वीरू थे ये दोनों दोस्त, एक ही बीमारी और एक ही तारीख पर छोड़ी दुनिया

Must Read

पुलकित कपूर
पुलकित कपूर
I am Pulkit Kapoor The best strategy maker for Herald Hindi

दोस्ती का रिश्ता बेहद ही खास माना जाता है। माना जाता है कि दोस्ती का रिश्ता खून के रिश्तों से भी बढ़कर होता है जो सिर्फ विश्वास और प्रेम से जुड़ा हुआ होता है। यूं तो दुनिया में दोस्ती को लेकर कई मिसालें हैं लेकिन आज हम आपको बॉलीवुड के असली जय वीरू से मिलाने जा रहे हैं जिन्होंने एक ही बीमारी और एक ही तारीख पर दुनिया को अलविदा कह दिया था।

ये दिग्गज कोई और नहीं बल्कि मशहूर अभिनेता विनोद खन्ना और फिरोज़ खान हैं। दोनों ही अभिनेता के बीच दोस्ती का अटूट रिश्ता था। दोनों कि जोड़ी को भी दर्शकों द्वारा खूब पसंद किया जाता था। खास बात तो ये भी है कि दोनों की एक ही बीमारी और एक ही तारीख पर मौत हुई थी।

कई फिल्मों में साथ किया था काम

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता फिरोज़ खान और विनोद खन्ना किसी पहचान के मौहताज नहीं हैं। दोनों ने कई फिल्मों में साथ काम किया है और दर्शकों ने भी इनकी जोड़ी को खूब पसंद किया था। 1976 में आई फिल्म शंकर शंभू में दोनों पहली बार साथ नज़र आए थे। वहीं इसके बाद दोनों ने कुर्बानी में भी काम किया था। इस फिल्म का निर्देशन भी फिरोज़ खान ने ही किया।

वहीं जब विनोद का करियर पीक पर था तब वे ओशो आश्रम गए थे लेकिन जब विनोद ने वापस बॉलीवुड में आने का फैसला किया तो फिरोज़ ने ही अपने खास दोस्त के लिए “दयावान” फिल्म को बनाया था। दोनों की जोड़ी को आज भी दर्शक भूल नहीं पाए हैं। फिरोज़ को आखिरी बार वेलकम फिल्म में देखा गया था।

एक ही बीमारी और तारीख पर हुई मौत

फिरोज़ और विनोद खन्ना की जोड़ी भी जय वीरू के जैसी ही थी। दोनों एक दूसरे काफी अच्छे दोस्त थे। दोनों की मौत भी एक ही बीमारी और तारीख पर हुई थी। दरअसल विनोद खन्ना को ब्लैडर कैंसर था तो वहीं फिरोज़ को लंग कैंसर था। दोनों ही दोस्त कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से ग्रसित थे।

वहीं दोनों की मौत ने भी सभी को हैरान कर दिया था। फिरोज़ खान ने 27 अप्रैल 2009 को इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। वहीं विनोद खन्ना ने भी 27 अप्रैल 2017 को दुनिया छोड़ी। दोनों की दोस्ती इतनी गहरी थी कि दोनों ने मौत की तारीख भी एक ही चुनी।

- Advertisement -spot_img

Latest News

बच्चों के लिए वरदान है बिना कैश काउंटर वाला अस्पताल, मुफ्त होता है बच्चों के दिल का इलाज

Delhi: हम जानते हैं कि आज भी ऐसे कई बच्चे हैं जो दिल की बीमारी के साथ ही पैदा...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े