भारतीय छात्रों के लिए मसीहा बने सोनू सूद, पूरी टीम ने मिलकर कई भारतीयों की कराई वतन वापसी

Must Read

प्रशांत गर्ग
प्रशांत गर्गhttps://heraldhindi.com/
I am Prashant Garg an aspiring reporter and an enthusiastic Content Writer for Herald Hindi website I'm passionate about exploring entertainment news and manifesting its best parts through Article Writing.

New Delhi: सोनू सूद को लोगों के मसीहा के तौर पर जाना जाता है। जब से देश में महामारी ने दस्तक दी है तभी से सोनू सूद लोगों की मदद करने को लेकर चर्चाओं में हैं। वहीं हम जानते हैं कि इस समय रूस और यूक्रेन युद्ध के कारण यूक्रेन में भी हालात ठीक नहीं हैं और कई भारतीय छात्र भी यूक्रेन में फंसे हुए हैं। अब ऐसे में एक बार फिर सोनू सूद इस

मुश्किल की घड़ी में लोगों के मसीहा बनकर उभरे हैं।

हाल ही में सोशल मीडिया पर ऐसी कई वीडियोज़ काफी तेजी से वायरल हो रही है जिसमें कुछ भारतीय छात्रों ने ही बताया है कि किस तरह से सोनू सूद और उनकी टीम यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों की मदद कर रही है। वहीं सोनू सूद ने भी अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपने इस काम से जुड़ी वीडियोज़ भी साझा किया है जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं।

भारतीय छात्रों ने की सोनू सूद की तारीफ

दरअसल यूक्रेन के गंभीर हालातों के बाद से ही भारतीय छात्रों को यूक्रेन से निकाले जाने का अभियान चल रहा है लेकिन अभी भी कई भारतीय छात्र यूक्रेन में ही फंसे हुए हैं। वहीं अब सोनू सूद ने भी भारतीय छात्रों की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया है और कई भारतीय नागरिकों को सुरक्षित वतन वापसी भी कराई है। अब कई छात्र अपनी वीडियोज़ सोशल मीडिया पर साझा कर रहे हैं और सोनू सूद की तारीफ कर रहे हैं।

हर्षा नाम की छात्रा ने बताया कि वे कीव में रह रही थी और सोनू सूद व उनकी टीम ने ही उन्हें वहाँ से सुरक्षित बाहर निकलने में मदद की है। इसके बाद हर्षा ल्विव पहुंची और फिर वहाँ से भारत के लिए रवाना हुई। वहीं स्टूडेंट चारु ने भी यही बताया कि सोनू सूद की मदद के कारण ही वे अपने वतन वापस लौट पाई हैं। सभी छात्र अब सोनू सूद का शुक्रिया भी कर रहे हैं।

सोनू सूद ने भी साझा की वीडियोज़

बता दें कि एक और स्टूडेंट ने भी सोनू सूद की तारीफ करते हुए कहा कि वे सोनू सूद टीम के कारण ही दिल्ली एयरपोर्ट तक पहुँच पाए हैं जहां से अब वे अहमदाबाद जाने वाले हैं। सोनू सूद और उनकी टीम ने लोगों को खाने पीने जैसे जरूरी सुविधाएं भी मुहैया कराई हैं। ईटाइम्स से बातचीत के दौरान सोनू सूद ने ही बताया कि पहले लोकल टैक्सी के द्वारा छात्रों को खार्किव रेलवे स्टेशन लाया गया।

ज्सिके बाद ट्रेन की मदद से उन्हें ल्विव में सुरक्षित जगह पहुंचाया गया जहां से छात्रों ने भारत वापसी की। वहीं सोनू सूद ने भी अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर कुछ वीडियोज़ साझा की है जिसमें स्टूडेंट्स उनके इस सराहनीय कार्य के बारे में बताते हुए नज़र आ रहे हैं। वहीं सोनू सूद ने कैप्शन में लिखा भी है कि ये उनका काम है और वे खुश हैं कि वे इस काम के काबिल हैं”

- Advertisement -spot_img

Latest News

पहले ही दिन विक्रम वेधा का हुआ बुरा हाल, लेकिन पोन्नियन सेलवन ने कर दिखाया कमाल

देश में त्यौहारों का सीजन चल रहा है। ऐसे में देशवासियों को सिनेमा से भी लगातार कई बड़े तोहफे...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े