लता मंगेशकर को जहर देकर रची गई थी जान से मारने की साजिश, आखिर किसने मिलाया था लता के खाने में ज़हर

Must Read

पुलकित कपूर
पुलकित कपूर
I am Pulkit Kapoor The best strategy maker for Herald Hindi

भारत की स्वर कोकिला के तौर पर पहचान बनाने वाली लता मंगेशकर की जिंदगी में एक दौर ऐसा आया था जब उन्हें ज़हर देकर मारने की साजिश की गई थी। इस दौरान लता को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा था।

हम जानते हैं कि लता मंगेशकर ने अपने सुरों से भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में अपना जादू बिखेरा है। जब भी संगीत की बात आती है तो लता का नाम याद करना भी लाज़मी हो जाता है। उनका जन्म 28 सितंबर 1929 को इंदौर में हुआ था। उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत से न सिर्फ बड़ी बहन होने का फर्ज़ निभाया बल्कि अपने सपनों को भी पूरा किया। अपने जीवन में कई संघर्षों का भी उन्होंने सामना किया था। 33 वर्ष की उम्र तक उन्होंने सिंगिंग इंडस्ट्री में अपनी पहचान बना ली थी। लेकिन उनके साथ एक घटना ऐसी भी हुई जिसके बाद वे गाना तो क्या 3 महीने तक बिस्तर से भी नहीं उठ पाई थी।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो एक दिन लता मंगेशकर के पेट में अचानक से ही दर्द होने लगा था। जिसके बाद उन्हें उल्टियां भी होने लगी थी। ऐसे में लता को तुरंत अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था। जहां डॉक्टर ने बताया कि उन्हें पिछले कई दिनों से धीमा ज़हर दिया जा रहा है। जिसका असर उनके शरीर पर होने लगा और उनकी ये हालत हो गई। इसके बाद तो लता 3 महीने तक बिस्तर से ही नहीं उठ पाई थी।

हालांकि इस बात का कभी खुलासा नहीं हो पाया कि आखिर उन्हें ज़हर किसने दिया लेकिन कहा जाता है कि इस खुलासे के बाद उनके घर का एक कुक अचानक से गायब हो गया था। लेकिन अब लता की बहन उषा ने ही रसोई की ज़िम्मेदारी ले ली थी।

एक साक्षात्कार के दौरान लता ने कहा था कि “हम मंगेशकर्स इस बारे में कभी बात नहीं करते, क्योंकि यह हमारी जिंदगी का सबसे भयानक दौर था। साल 1963 में मुझे इतनी कमजोरी महसूस होने लगी कि मैं तीन महीने तक बेड से भी बहुत मुश्किल से उठ पाती थी। हालात ऐसे हो गए कि मैं अपने पैरों से चल फिर भी नहीं सकती थी। इस बात की पुष्टि हो चुकी थी कि मुझे धीमा जहर दिया गया था। डॉ. कपूर का इलाज और मेरा दृढ़ संकल्प मुझे वापस ले आया। तीन महीने तक बेड पर रहने के बाद मैं फिर से रिकॉर्ड करने लायक तैयार हो गई थी।”

वहीं उस समय ये भी अफवाह उड़ी थी कि लता के डॉक्टर ने ये कहा है कि अब वे कभी नहीं गा पाएँगी इस पर भी लता ने सफाई दी और कहा कि “ये सब अफवाह हैं क्यूंकि डॉक्टर ने मुझे ऐसा कभी नहीं कहा कि मैं कभी नहीं गा पाऊँगी। बल्कि मेरे डॉक्टर ने तो कहा था कि वे उन्हें ठीक करके ही रहेंगे”

लेकिन अब लता मंगेशकर दुनिया को अलविदा कह चुकी हैं। लता ने 6 फरवरी 2022 की सुबह अंतिम सांस ली है। पिछले महीने जनवरी से ही उनका इलाज चल रहा था। लेकिन अब उनके निधन के बाद पूरे बॉलीवुड में शोक की लहर दौड़ गई है।

- Advertisement -spot_img

Latest News

इन खास वेब सिरीज़ का बेसब्री से हो रहा है इंतज़ार, इंडिया की टॉप वेब सिरीज़ में शामिल है इनका नाम

ओटीटी पर इस समय कई वेब सीरिज़ को रिलीज़ किया जा रहा है। इनमें से कुछ वेब सिरीज़ ऐसी...
- Advertisement -spot_img

और भी पढ़े